दोस्तों Rich बनने के लिए दो सिंपल तरीके है जो आज हम इस आर्टिकल में बताएंगे. अगर देखा जाए आर्थिक रूप से इस दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, पहला गरीब और दूसरा अमीर. हालाकी ठीक तरीके से बता पाना बहुत ही मुश्किल है कि कौन गरीब और कौन अमीर.


तो अगर अमीरी और गरीबी को आसान शब्दों से समझना है, हम कह सकते हैं कि Rich वो आदमी होता है  जिसकी आमदनी उसके खर्चों से कम से कम 2 गुना या उससे ज्यादा होता है. 


और गरीब वो होता है जिसकी आमदनी कम होती है, और खर्च ज्यादा होती है. यानी सिंपल Rich आदमी वह है जिनके इन-कम ₹100 और खर्च ₹50 या उससे कम है. और अगर आप देखे, गरीब आदमी की कमाई और खर्च बराबर होते हैं.


तो इस बात से पूरी तरह से यह तय हो जाता है कि आमदनी और खर्च के बीच का डिफरेंस, यानी आमदनी और खर्च के बीच जो अनुपात है वही तय करता है कौन कितना अमीर है और कौन कितना गरीब.

How To Become Rich
How To Become Rich Fast

अमीर बनने के लिए क्या करना पड़ता है:

और इस हिसाब से देखा जाए अमीर बनने की दो सिंपल तरीके होते हैं, पहले तो  या आप अपने खर्चों को कम कर लो. और दूसरा यह कि या फिर आपने  आमदनी को बढ़ा लो.


जी हां अमीर बनने के लिए यह जो पहला तरीका है जिसमें आप अगर आपने आमदनी को नहीं बढ़ा सकते, तो अगर आप अपने खर्चों को कम कर ले तो काफी हद तक अमीर बना जा सकता है.


और दूसरे तरीके में  आप अपने खर्चों को कम नहीं कर सकते तो आपको आपने आमदनी को बढ़ाना होगा.  और अपने आमदनी को अपने खर्च  के मुकाबले कम से कम 2 गुना या उससे ज्यादा करना होगा तो ही आप अमीर बन पाएंगे.


हालांकि यह दोनों तरीके बहुत ही सिंपल लगते हैं बिल्कुल कॉमन सेंस की बात है, यह तो आप अपने खर्च को कम कर ले या फिर अपने आमदनी को बढ़ा ले यह दोनों तरीके से आप अमीर बन सकते हैं. 


तो आप सवाल आता है अमीर बनना इतना आसान है तो सभी लोग फिर क्यों नहीं अमीर बन पाते. तो दोस्तों  यह सही है कि अमीर बनने की यह दोनों ही तरीके बहुत ही सिंपल है. लेकिन सिंपल होने का मतलब जरूरी नहीं यह बहुत आसान भी होगा.


यह इतना आसान क्यों नहीं:

जैसे कि स्वस्थ रहने के लिए यह बहुत जरूरी है कि आदमी रेगुलर जिम जाए, रेगुलर Walk करें अपने खाने पर कंट्रोल करें Healthy खाना खाए. 


तो आप ही बताएं कौन इस तरह का नियम नहीं जानता कि स्वस्थ रहने के लिए यह सब जरूरी है. और यह सब कुछ कितना सिंपल है.


 तो फिर ऐसा क्यों नहीं है सब लोग स्वास्थ है. तो इसका जवाब यह है कि जिस काम को करना जितना सिंपल है तो उस काम को ना करना उतना ही सिंपल होता है.


तो शायद इसीलिए ज्यादातर लोग स्वस्थ रहने की यह सिंपल नियम को फॉलो नहीं करते और वह Unhealthy life जीते हैं.


और एक रिसर्च के मुताबिक यह पता चला है आदमी सिंपल चीज यानी फंडामेंटल चीजों को फॉलो नहीं करता है. क्योंकि इंसान आसान काम से बहुत जल्दी बोर हो जाता है. उसे आसान काम करना बिल्कुल ही पसंद नहीं  है.


इंसान हमेशा ऐसा काम करना चाहते हैं जो Complicated हो, और दिमाग उससे उलझे रहे, और उसे यह भ्रम होता रहे कि वह बहुत बड़ा काम कर रहा है.


लेकिन सच्चाई यह है कि अक्सर कुछ बड़े प्रॉब्लम का Solution बड़े सिंपल होते हैं. और अगर आप उनमें से है जो सिंपल चीजों को करने में विश्वास रखते हैं तो आपको अमीर बनने की यह दोनों तरीका पसंद आएगा.


अमीर बनने के लिए लक्ष्य बनायें:

एक रिसर्च के दौरान यह देखा गया है कि ना तो आदमी के लिए अपने खर्चों को कम करना आसान होता है. और ना ही आदमी के लिए अपने आमदनी को बढ़ाना इतना आसान होता है.  और क्योंकि ज्यादातर लोग अपने आमदनी को बढ़ा पाते हैं. और अपने खर्च को कम कर पाते हैं. 


 यानी इन दोनों ही तरीके से फेल हो जाते हैं और यही कारण होता है ज्यादातर लोग अमीर नहीं बन पाते. लेकिन अगर आप सच में अमीर बनना चाहते हैं तो मेरी राय में आप इस तरह की गलती बिल्कुल ना करें. और आपको अमीर बनने की  इन दो सिंपल तरीकों में से किसी एक को जरूर चुनना चाहिए.


यानी अगर आप सच में अमीर बनना चाहते हैं तो आपके पासदो रास्ते हैं,  या तो आप अपने आमदनी की तुलना में अपने खर्च को आधा कर लो, या आधे से भी कम कर लो. अगर आप अपने खर्च को कम नहीं कर सकते तो खर्च की तुलना में अपनी आमदनी को दो गुना  या उससे ज्यादा बढ़ा ले. अब आपको इन दोनों तरीकों में से किसी एक को चुनना ही होगा


Best Way Of Getting Rich:

दोस्तों अगर अब बात करें अमीर बनने की इन दोनों तरीकों में से कौन सा तरीका सबसे अच्छा है और आपको क्या चुनना चाहिए?  तो मेरा सिंपल सा जवाब यह होगा की तरीका दोनों ही अच्छा है जरूरत तो इस बात की है कि आप अपनी आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए जो भी आपको ठीक लगे उस तरीके को आप चुन सकते हैं.

 
अपने आपके परिस्थिति के मुताबिक तरीका चुनना चाहिए यह जरूरी नहीं कि आप हमेशा एक ही तरीके को चुने. जैसे कि आज अगर आपकी आमदनी नहीं  बढ़ पा रही है तो सिंपली आप अपने खर्च को कंट्रोल कर सकते हैं.  और जब आपकी आमदनी बढ़ने लगेगी तब भी आप यह खर्च को कंट्रोल कर सकते हैं. 


क्योंकि अगर सिर्फ आमदनी को बढ़ाया जाए और खर्च को कंट्रोल ना किया जाए, तो होता यह है जैसे-जैसे आमदनी बढ़ती है वैसे वैसे ही हमारे खर्च भी बढ़ जाते हैं. और रियल लाइफ में आप देख सकते हैं कि हम सभी के साथ हमेशा ऐसा ही होता है.


हमारे आमदनी समय के साथ बढ़ते तो रहते हैं यानी अगर आप पिछले साल कुछ कमा रहे थे तो आपकी आमदनी इस साल ज़रुर बढ़ी होगी. लेकिन प्रॉब्लम यह होता है कि समय के साथ साथ हमारे खर्चे भी बढ़ जाते हैं इसलिए मैं इन दोनों ही तरीकों पे साथ में चलना पसंद करुंगा.


और एक तरफ अपने फ़िजूल ख़र्चों को कंट्रोल करुंगा और सिंपली अपने ख़र्चों को कंट्रोल करने के साथ-साथ दूसरी तरफ अपने आमदनी को बढ़ाने की पूरी कोशिश करुंगा. और सिंपली मैं आमदनी या इनकम के लिए सिर्फ एक सोर्स पर डिपेंड नहीं रहूँगा और आमदनी के दूसरे सोर्स जरूर बनाऊंगा.


इससे होगा क्या आमदनी तो बढ़ती रहेगी और दूसरी तरफ ख़र्चों को कंट्रोल करने से मेरे पास पैसे की Saving ज्यादा होगी. और वह एक्स्ट्रा Saving के पैसे को मैं सही ढंग से निवेश करके और ज्यादा पैसे  कमा सकता हूं. और हमारे आर्थिक स्थिति को बेहतर तरीके से कंट्रोल कर सकता हूं.


और इस तरीके से Chances ज्यादा है कि मैं जल्द से जल्द रियल अमीर बन सकता हूं. तो दोस्तों अमीर बनने का यह तरीका आपको कैसा लगा मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और अगर आपको यह तरीका अच्छा लगा तो यह दोनों तरीके को आप जरूर लाइफ में Apply करिएगा. 

3 Comments

  1. i must appreciate your information (BTW) can we have a contact
    contact me on my gmail - shuklarhythm9074@gmail.com
    i want to learn something from you

    ReplyDelete

Post a Comment

Previous Post Next Post